Karnataka Solutions for Class 9 Hindi वल्लरी Chapter 6 चेरापूँजी से आया हूँ

You can Download चेरापूँजी से आया हूँ Questions and Answers Pdf, Notes, Summary Class 9 Hindi Karnataka State Board Solutions to help you to revise complete Syllabus and score more marks in your examinations.

चेरापूँजी से आया हूँ Questions and Answers, Notes, Summary

अभ्यास

I. एक वाक्य में उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
किस राज्य को बादलों का घर कहते हैं ?
उत्तर:
मेघालय को बादलों का घर कहते है।

प्रश्न 2.
जीप में लेखक के साथ और कौन बैठे हैं ?
उत्तर:
जीप में लेखक के साथ राज्य के एक अधिकारी श्री संगमा और उनके दो दोस्त बैठे हैं।

प्रश्न 3.
मेघालय के तीन पर्वतीय अंचलों का नाम लिखिए।
उत्तर:
खासी पर्वत. गारो पर्वत और जयंतिया पर्वत। ये मेघालय के तीन पर्वतीय अंचल हैं।

प्रश्न 4.
मेघालय में हर कहीं कौन-सी पारिवारिक व्यवस्था है।
उत्तर:
मेघालय में हर कही मातृसत्तात्मक पारिवारिक व्यवस्था है।

प्रश्न 5.
नोहशंगथियांग प्रपात किस नाम से लोकप्रिय है ?
उत्तर:
नोहशंगथियांग मॉसमाई प्रपात के नाम से लोकप्रिय है।

प्रश्न 6.
गारो समूह किस जाति का अंग माने जाते हैं ?
उत्तर:
गारो समूह बोडो जाति का अंग माना जाता है।

II. दो-तीन वाक्यों में उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
बिजली उत्पादन के बारे में संगमा ने क्या कहा?
उत्तर: मेघालय में खपत से ज्यादा पनबिजली काउत्पादन होता है। अतिरिक्त बिजली अन्य राज्यो को दी जाती है। यदि सभी गाँव बिजली से जगमगा उठे तो, भी अतिरिक्त बिजली का उत्पादन होता रहेगा।

प्रश्न 2.
माइती बाजार के बारे में तीन वाक्य लिखिए।
उत्तर:
मणिपुर की राजधानी इम्फाल में माइती बाजार देखने को मिलता है। माइती बाजार को – माँ का बाजार कहते है। यहाँ वर्गभेद नही मिलता यानी 1 बाजार में अमीर और गरीब घरों की स्त्रियाँ सामान की बिक्री करती नजर आती है।

प्रश्न 3.
चेरापूँजी की विशेषता क्या है ?
उत्तर:
समुद्र की सतह से तेरह सौ मीटर ऊपर यह स्थान है। विश्व में सबसे अधिक वर्षा के लिए यह प्रसिद्ध है। वर्जा, धूप, कोटरे की छुपा-छिपी का खेल यहाँ चलता रहता है।

प्रश्न 4.
मॉसमाई गाँव की गुफाएँ कैसी है ?
उत्तर:
मॉसमाई गाँव की गुफाएँ इतनी अँधेरी हैं कि मशाल या टॉर्च जलाए बिना उनमें प्रवेश नहीं कर सकते। सदियों से यह गुफाएँ इसी तरह है और बहुत दूर-दूर तक चली गयी है।

III. द्वित्व शब्दों को पाठ में से चुनकर लिखिएः

उदाः उमडते घुमडते

  1. ऊँचा
  2. रीति
  3. कल-कल
  4. अगले
  5. ऊपर

उत्तर:

  1. ऊँचा – नीचा
  2. रीति – रिवाज
  3. कल-कल – छल-छल
  4. अगले – बगल
  5. ऊपर – नीचे

IV. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए ।

  1. मेघालय की राजधानी है _______
  2. चेरापूंजी शिलंग से _______ कि.मी. की दूरी पर है।
  3. मेघालय में हर कहीं पारिवारिक व्यवस्था _______ है।
  4. चेरापूँजी समुद्र की सतह से कोई _______ मीटर ऊपर है।
  5. खासियों को समाज में _______ की दृष्टि से देखा जाता है।

उत्तर:

  1. मेघालय की राजधानी है शिलंग ।
  2. चेरापूंजी शिलंग से 53 कि.मी. की दूरी पर है।
  3. मेघालय में हर कहीं पारिवारिक व्यवस्था मातृसत्तात्मक है।
  4. चेरापूँजी समुद्र की सतह से कोई तेरह सौ मीटर ऊपर है।
  5. खासियों को समाज में सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है।

V. जोडकर लिखिए :

1. चेरापूंजी की सड़कें स्त्रियाँ सौदा बेचती है।
2. तमाम दुकानों पर खासी लोगों का प्रमुख नृत्य है।
3. चेरापूंजी में जयंतिया पहाडियों का उत्सव है।
4. नोंगळेम कुहरे से घिरी हुई हैं।
5. बेहडेनखुलाम साल भर वर्षा होती रहती है।

उत्तर:

1. चेरापूंजी की सड़कें कुहरे से घिरी हुई हैं।
2. तमाम दुकानों पर स्त्रियाँ सौदा बेचती है।
3. चेरापूंजी में साल भर वर्षा होती रहती है।
4. नोंगळेम खासी लोगों का प्रमुख नृत्य है।
5. बेहडेनखुलाम जयंतिया पहाडियों का उत्सव है।

VI. बे उपसर्ग जोडकर विलोम शब्द बनाइए :

उदा : हिचक x बेहिचक

  1. रोकटोक
  2. इज्जत
  3. रहमें
  4. ईमान
  5. कसूर
  6. वफा
  7. शक
  8. ताज
  9. सहारा
  10. काबू

उत्तर:

  1. रोकटोक x बेरोकटोक
  2. इज्जत x बेइजत
  3. रहमें x बेरहम
  4. ईमान x बेईमान
  5. कसूर x बेकसूर
  6. वफा x बेवफा
  7. शक x बेशक
  8. ताज x बेताज
  9. सहारा x बेसहारा
  10. काबू x बेकाबू

VII. अब आपको किसी यात्रा पर जाना है। सोच-समझकर आप इन वाक्यों को एक क्रम से लिखिए :

  1. होटल से संपर्क कर कमरा निर्धारित करना।
  2. छुट्टी लेना।
  3. कपडे, सामान बाँध लेना।
  4. यात्रा स्थल को चुनना।
  5. वस या रेल में आरक्षण की व्यवस्था कर लेना।

उत्तर

  1. यात्रा स्थल को चुनना।
  2. छुट्टी लेना।
  3. बस या रेल में आरक्षण की व्यवस्था कर लेना।
  4. होटल से संपर्क कर कमरा निर्धारित करना।
  5. कपडे, सामान बाँधलेना।

VIII. चेरापूंजी में साल भर वर्षा होती रहती है। वर्षा प्रकृति की अनुपम भेंट है। इसी प्रकार प्रकृति के कुछ अन्य देन लाभों की सूची बनाइए –

उदा : जल प्रपात

  1. जल प्रवाह
  2. जल विद्युत
  3. जल धारा

IX. संकेत-बिंदुओं के आधार पर अपनी किसी यात्रा का वर्णन कीजिए :

प्रश्न 1.
कहाँ गये थे ?
उत्तर:
मैं मैसूर गया था।

प्रश्न 2.
किसके साथ गये थे ?
उत्तर:
मेरे मित्रों के साथ गया था।

प्रश्न 3.
कब गये थे ?
उत्तर:
क्रिसमस की छुट्टीयों में गये थे।

प्रश्न 4.
कैसे गये थे ?
उत्तर:
कार से (लेकर) गये थे।

प्रश्न 5.
उस स्थान में क्या-क्या देखे ?
उत्तर:
मैसूर पॉलेस, ललितमहल, जगनमोहन आर्ट गैलरी, मैसूर प्राणिसंग्रहालय, चामुंडी पहाड, कृष्णराजसागर आदि देखा।

प्रश्न 6.
कोई विशेष अनुभव (एक/दो वाक्य)
उत्तर:
जगन्मोहन आर्ट गैलरी देखते ही मुझे अत्यंत खुशी, रोमांचन हुआ। राजा रविवर्मा के पेंटिंग जो विश्वभर में प्रसिद्ध है उन्हें देखकर मन में प्रसन्नता एवं आनंद की लहर दौड पडी। क्यों कि वे चित्र इतने सजग, सजीव लगते हैं मानो हम जीविन इन्सान से मिल रहे है। ऐसे चित्र मैसूर में है यह जानकर मेरा । मन उल्लास से भरगया।

X. कक्षा में चर्चा करके इन दोनों से होनेवाली हानियों को लिखिए।

अतिवृष्टि

  1. खेत-खलिहान बह जाते हैं।
  2. सथान डूब जाते हैं।
  3. लोग पानी में बहकरात्मर जाते है।

अनावृष्टि

  1. बिनापानी के खेतखलिहान सूख जाते है।
  2. जानवर पशुपक्षी मर जाते हैं।
  3. अनाज नही मिलता।

XII. अनुरूपता :

  1. कर्नाटक : बेंगलूरु :: मेघालय : _______
  2. राजस्थान : रेत का प्रदेश :: मेघालय : _______
  3. मणिपुर : इम्फाल :: बाँग्लादेश : _______
  4. नोंगक्रेम : नृत्य :: बेहडेनखलाम : _______

उत्तर:

  1. कर्नाटक : बेंगलूरु :: मेघालय : शिलंग
  2. राजस्थान : रेत का प्रदेश :: मेघालय : बादलों का घर
  3. मणिपुर : इम्फाल :: बाँग्लादेश : ढाका
  4. नोंगक्रेम : नृत्य :: बेहडेनखलाम : उत्सव

भाषा ज्ञान

I. संधि-विच्छेद कीजिए और संधि क नाम लिखिएः

  1. देहांत
  2. स्वेच्छा
  3. अत्यधिक
  4. महोन्नत
  5. वीरांगना
  6. नायिका

उत्तर:

  1. देहांत = देह + अंत = दीर्घसंधि
  2. स्वेच्छा = सु + इच्छा = यण् संधि
  3. अत्यधिक = अति + अधिक = यण संधि
  4. महोन्नत = महा + उन्नत = गुण संधि
  5. वीरांगना = वीर + अंगना = दीर्घ संधि
  6. नायिका = नै + इक = अयादि संधि

II. संधि कीजिए :

  1. मत + अनुसार
  2. मुनि + इंद्र
  3. गुरु + उपदेश
  4. वीर + उचित
  5. लोक + उपकार
  6. महा + उदय
  7. महा + ऋषि
  8. सदा + एव
  9. लोक + ऐश्वर्य
  10. शे + अन

उत्तर:

  1. मत + अनुसार = मतानुसार
  2. मुनि + इंद्र = मुनिंद्र
  3. गुरु + उपदेश = गुरोपदेश
  4. वीर + उचित = वीरोचित
  5. लोक + उपकार = लोकोपकार
  6. महा + उदय = महोदय
  7. महा + ऋषि = महर्षि
  8. सदा + एव = सदैव
  9. लोक + ऐश्वर्य = लोकैश्वर्य
  10. शे + अन = शयन

III. उदाफ अनुसार लिखिए :

उदा : देव + आलय = देवालय

  1. गोल + _______ = गोलाकार
  2. _______ + अनुभूति = महानुभूति
  3. रजनी + _______= रजनीश
  4. _______ + आगत = स्वागत
  5. अति + _______ = अत्यंत
  6. अनु + अय =_______
  7. ______+ अन = भवन
  8. _______ + आज्ञा = पित्राज्ञा
  9. पौ + _______ = पावक

उत्तर:

  1. गोल + आकार = गोलाकार
  2. सह + अनुभूति = महानुभूति
  3. रजनी + ईश = रजनीश
  4. सु + आगत = स्वागत
  5. अति + अंत्य = अत्यंत
  6. अनु + अय = अन्याय
  7. भो + अन = भवन
  8. पित्र + आज्ञा = पित्राज्ञा
  9. पौ + अक = पावक

चेरापूँजी से आया हूँ Summary in Hindi

चेरापूँजी से आया हूँ पाठ का सारांश :

शिलंग मेघालय की राजधानी खुबसूरत राजधानी है। वहाँ के प्राकृतिक सौंदर्य की तुलना उत्तर भारत में किसी भी शहर के साथ नहीं होसकती। स्वच्छ, सुंदर पर्वतीय नगर, चारों तरफ हरियाली छाई हुई ऐसा शायद ही देखने को मिले। लेखक जीप से 53 कि.मी. दूर चेरापूंजी की ओर बढ़ रहे थे। साथ में राज्य के अधिकारी श्री संगमा और उनके दो दोस्त भी थे। उन्होंने जो जानकारी दी उसके मुताबिक मेघालय में जलविद्युत का उत्पादन माला की बिक्री से ज्यादा होता है और अतिरिक्त बिजली अन्य राज्यों को देते है।

मेघालय तीन पर्वतीय अंचलों में बँटा हुआ है – खासी पर्वत, गारो पर्वत और जयंतिया पर्वत। हर एक अंचल का अपना महत्व है। अलग संस्कृति है। वहाँ मातृसत्तात्मक पारिवारिक व्यवस्था है। भूमि, धन संपत्ति सब माँ से बेटी को मिलती है। ज्यादातर पूर्वोत्तर राज्यों में स्त्रियों का वर्चस्व देखने को मिलता है। भले ही वहाँ मातृसत्तात्मक परिवार व्यवस्था न हो। मणिपुर की राजधानी इम्फाल में माइती बाजार देखने को मिलता है। माइतीबाजार यानी माँ का बाजार, दिनभर सामान की बिक्री यहाँ की महिलाएँ करती है। यहाँ वर्ग भेद नहीं है। अमीर-गरीब घरों की स्त्रियाँ इस बाजार में मिल जाएँगी। इसबाजार में दुकानों पर बैठी है महिलाएँ – फिर चाहे दुकान फल सब्जियों की हो या चाय की।

आगे बढ़ते हुए लेखक संगमा के साथ चले जाते है। वहाँ एक जगह पर जीप रूकवा दी। सामने नोहरंग थियांग प्रपात जो मॉसमाई प्रपात के नाम से लोकप्रिय है, दिखाई दिया। ऊँचे पहाड से सैंकड़ों कुट नीचे पानी लगातार बिना किसी रुकावट के गिर रहा है। वहाँ से बांग्लादेश ठीक सामने से नजर आ रहा है। अचानक हल्की-हल्की वर्जा शुरू होती है। पलभर में मौसम बदलता है। समुद्र की सतट से तेरह सौ मिटर ऊपर चेरापूँजी है। विश्व में सबसे अधिक वर्षोंवाला स्थान मान जाता है। वहाँ कलकल करते जलप्रपात भी है। मौर पानी से घिरे बाँग्लादेश का भूभाग नजर आता है।
KSEEB Solutions for Class 9 Hindi वल्लरी Chapter 6 चेरापूँजी से आया हूँ 1

खासी, जयंतिया और गारो इन पहाडियों के लोगों की विशेजताएँ कुछ इस प्रकार है। खासियों को सम्मान की दृष्टी से देखा जाता है। गारो समूह बोडो जाति का अंग है। नोंगक्रेम प्रमुख मृत्य है। जयंतिया पहाडियों के उत्सव का नाम बेहडेनखलाम है। मासमाई काव की गफाएँ हैं, वह। इतनी अंधेरी हैं कि मशाल या टॉर्च जलाए बिना उनमें प्रवेश नहीं कर सकते लेखक के । साथ संगमा और उनके दोस्तों ने मशालें जला ली और गुफाओं के अंदर आगे बढगए।

चेरापूँजी से आया हूँ Summary in Kannada

चेरापूँजी से आया हूँ Summary in Kannada 1
चेरापूँजी से आया हूँ Summary in Kannada 2

चेरापूँजी से आया हूँ Summary in English

One can gain knowledge of different regions by going on a trip. We can get first-hand knowledge of ways of living of the people as well as the beauty of the natural scenery. Different ways of life and scenery can be seen by traveling. Students get to know about Cherrapunji, a high-altitude town in the northeast Indian state of Meghalaya, through this lesson.

Meghalaya means the house of clouds. Shillong is the capital of Meghalaya where one can see clouds moving all the time. There is no other city in North India as beautiful and clean as Shillong. Probably such greenery can hardly be seen anywhere else. The road from Shillong to Cherrapunji has mountains and trees on either side. As one travels one can see clouds, one can experience the cool breeze and see occasional raindrops.

The writer was going from Shillong to Cherrapunji by jeep which was 53 kilometres away. He was accompanied by an official of the State Mr Sangma and his two friends. The writer asked Sangma whether it rained throughout the year. Sangma replied in the affirmative and added that the writer would be surprised to know that Meghalaya produced more electricity than required. He also said that the surplus power is sold to other States.

The writer and others moved forward beholding the beauty of the hills. On the other side of the road, the hills were covered with fog. Meghalaya has three distinct regions – Khasi Hills, Garo Hills and Jaintia hills. Five districts have been created out of these three regions. Every region has its own culture, customs and festivals. But the family system is matriarchal in all the districts. Land, wealth and property are all inherited by the daughter from her mother.

Women are powerful here. One can realise this as soon as one enters the borders of Meghalaya from Guwahati. All the shops are run by women. Even in Shillong, one can see them sitting in shops. This is seen even in other north-eastern states even though the matriarchal family system does not exist there. The writer had seen women managing shops even in Imphal, the capital of Manipur, some years ago. Here there is an all-women market known as Maayiti Bazaar which means mother’s market. They sell goods during the day and return home in the evening. There is no class distinction of any sort. There are women of rich families as well as poor families doing business in Maayiti Bazaar.

As they take a turn they see the little market of Cherrapunji. Here also women are seen managing the shops, whether selling fruits and vegetables or tea. The writer and others go ahead in their jeep. Sangma stopped the jeep after they had moved a short distance. All of them got down. In front of them was Nohsngithiang Falls which is popular by the name ‘Mawsmai’ Falls. Here waterfalls rapidly from a height of over a thousand feet. One of them pointed out in front and said that that was Bangladesh. When they had got down from the jeep there was mild heat but in a short time clouds had covered the sky and it began to drizzle. The writer repeated his question to Sangma whether it rained throughout the year. Mr Sangma replied smilingly that it was Cherrapunji.

Cherrapunji is located over one thousand three hundred metres above sea level. It is considered to be the wettest place in the world. On their return journey, Sangma spoke about the Khasi, Garo and Jaintia tribes. He said that the Khasis are respected there. The Garo Hills is the home of approximately six lakh Garo people. It is said that the Garo tribe is a part of the Bodo community. Nongkrem dance is the popular dance of the Khasis. Behdienkhlam is the most popular festival of the Jaintia tribe.

They moved ahead for some distance before stopping once again. Nearby they saw a huge round stone. Sangma told them that it was a natural Shivalingam, which was a wonder of nature. Even the caves of Mawsmai village are a wonder. The caves are so dark that one cannot enter it without a burning torch. They lit a torch and entered the caves. There were rocks on all sides. These caves have been in the same condition for hundreds of years and they stretch a long distance. After walking some distance they returned, feeling as though they were returning back from some wonderland.

KSEEB Solutions for Class 9 Hindi

Leave a Comment