Karnataka Class 10 Hindi Solutions वल्लरी Chapter 15 कर्नाटक संपदा

You can Download कर्नाटक संपदा Questions and Answers Pdf, Notes, Summary Class 10 Hindi Karnataka State Board Solutions to help you to revise complete Syllabus and score more marks in your examinations.

कर्नाटक संपदा Questions and Answers, Notes, Summary

अभ्यास

I. एक वाक्य में उत्तर लिखिए:

प्रश्न 1.
पश्चिमी घाट किसे कहते हैं ?
उत्तर:
कर्नाटक प्रान्त में दक्षिण से उत्तर के छोर तक फैली लम्बी पर्वतमालाओं को पश्चिमी घाट कहते हैं।

प्रश्न 2.
कर्नाटक में कौन-कौन-से जलप्रपात हैं ?
उत्तर:
कर्नाटक में जोग, अब्बी, गोकाक, शिवन समुद्र आदि जलप्रपात मनमोहक हैं।

प्रश्न 3.
श्रवणबेलगोल की गोमटेश्वर मूर्ति की ऊँचाई कितनी हैं ?
उत्तर:
श्रवणबेलगोल की गोमटेश्वर मूर्ति की ऊँचाई 57 फूट है।

प्रश्न 4.
किस नगर को सिलिकॉन सिटी कहा जाता है ?
उत्तर:
बेगलू नगर को सिलिकॉन सिटी कहा जाता है।

प्रश्न 5.
भद्रावती के दो प्रमुख कारखानों के नाम लिखिए।
उत्तर:
भद्रावती में कागज, लोहे और इस्पात के बडे कारखाने हैं।

प्रश्न 6.
सेंट फिलोमिना चर्च किस नगर में है ?
उत्तर:
सेंट फिलोमिना चर्च मैसूर नगर में है।

प्रश्न 7.
बिजयपुरा नगर का प्रमुख आकर्षक स्थान कौन-सा है ?
उत्तर:
बिजापुर नगर का प्रमुख आकर्षण स्थान गोलगुम्बज है।

प्रश्न 8.
अरबी समुद्र कर्नाटक की किस दिशा में है ?
उत्तर:
अरबी समुद्र कर्नाटक की पश्चिमी दिशा में है।

प्रश्न 9.
कर्नाटक की दक्षिण दिशा में कौन-सी पर्वतमालाएँ शोभायमान हैं ?
उत्तर:
कर्नाटक की दक्षिण दिशा में नीलगिरी पर्वत मालाएँ शोभायमान हैं।

II. दो-तीन वाक्यों में उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
कर्नाटक की प्रमुख नदियाँ और जलप्रपात कौन – कौन-से हैं ?
उत्तर:
कावेरी, कृष्णा, तुंगभद्रा आदि कर्नाटक की प्रमुख नदियाँ और लोग, अब्बी, गोकाक, शिवन समुद्र आदि जलप्रपात हैं।

प्रश्न 2.
कर्नाटक के किन साहितयकारों को ज्ञानपीठ पुरस्कार प्राप्त है?
उत्तर:
कुवेम्पु, द.रा. बेन्द्रे, शिवराम कारंत, मास्ति वेंकटेश अय्यंगार, वि.कृ. गोकाक, यू. आर. अनंतमूर्ति, गिरीश कार्नाड, चन्द्रशेखर कम्बार आदि साहित्यकारों को ज्ञानपीठ पुरस्कार प्राप्त है।

प्रश्न 3.
बाँध और जलाशयों के क्या उपयोग हैं ?
उत्तर:
कावेरी, कृष्णा, तुंगभद्रा नदियों पर बाँध बनाये गये हैं। इनसे हजारों एकड़ जमीन सींची जाती है। इसके अलावा इन नदियों के जलाशयों की सहायता से ऊर्जा-उत्पादन केन्द्र भी स्थापित किये गये है।

प्रश्न 4.
कर्नाटक के कुछ प्रमुख राजवंशों के नाम लिखिए।
उत्तर:
कर्नाटक के कुछ प्रमुख राजवंशों के नाम हैं – गंग, कदम्ब, राष्ट-कूट, चालुक्य, होयसल और ओडेयर।

प्रश्न 5.
बेंगलूर में कौन-कौन-सी बृहत् संस्थाएँ हैं ?
उत्तर:
बेंगलूरु में प्रसिद्ध भारतीय विज्ञान संस्थान, एच.ऐ.एल., एच.एम.टी., आई.टी.आई., बी.एच.ई.एल., बी.ई.एल. जैसी बृहत् संस्थाएँ हैं।

III. चार-पाँच वाक्यों में उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
कर्नाटक के प्राकृतिक सौंदर्य का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
प्रकृतिमाता ने कर्नाटक राज्य को अपने हाथों से सँवारकर सुन्दर और समृद्ध बनाया है। कर्नाटक की प्राकृतिक सुषमा नयन मनोहर है। पश्चिम में विशाल अरबी समुद्र लहराता है। इसी प्रांत में दक्षिण में उत्तर के छोर तक फैली लम्बी पर्वतमालाओं को पश्चिमी घाट कहते हैं। इन्हीं घाटों का कुछ भाग सह्याद्रि कहलाता है। दक्षिण में नीलगिरी की पर्वतमालाएँ शोभायमान हैं।

प्रश्न 2.
कर्नाटक की शिल्पकला का परिचय दीजिए।
उत्तर:
कर्नाटक की शिल्पकला अनोखी है। बादामी, ऐहोले, पट्टदकल्लु में जो मंदिर हैं, उनकी शिल्पकला और वास्तुकला अद्भुत है। बेलूरु, हलेबीडु, सोमनाथपुर के मंदिरों में पत्थर की सजीव मूर्तियाँ हैं। ये हमें रामायण और महाभारत की कहानियाँ याद दिलाती हैं। श्रवणबेलगोला में 57 फुट ऊँची गोमटेश्वर की एकशिला प्रतिमा शांति और त्याग का संदेश दे रही है। विजयपुरा के गोलगुंबज की व्हिस्परिंग गैलरी वास्तुकला का अद्भुत नमूना है। मैसूर का राजमहल कर्नाटक के वैभव का प्रतीक है। प्राचीन सेंट फिलोमिना चर्च, जगनमोहन राजमहल का पुरातत्व वस्तु संग्रहालय अत्यंत आकर्षणीय है।

प्रश्न 3.
कन्नड भाषा तथा संस्कृति को कर्नाटक के साहित्यकारों की क्या देन है ?
उत्तर:
कर्नाटक के अनेक साहित्यकारों ने कर्नाटक की कीर्ति संसार में फैलाई है। वचनकार बसवण्णा क्रांतिकारी समाज सुधारक थे। अक्कमहादेवी, अल्लमप्रभु, सर्वज्ञ जैसे अनेक संतों ने अपने वचनों द्वारा प्रेम, दया और धर्म की सीख दी है। पुरंदरदास, कनकदास आदि कवियों ने भक्ति, नीति और सदाचार के गीत गाए हैं। पंपा, रन्ना, पोन्ना, कुमारव्यास, हरिहर, राघवांक आदि कवियों ने कन्नड़ साहित्य को समृद्ध बनाया है। अब-तक कर्नाटक के आठ साहित्यकारों को ज्ञानपीठ पुरस्कार मिल चुका है। यह कन्नड़ भाषा, साहित्य, संस्कृति और कर्नाटक के लिए गौरव का विषय हैं।

IV. कोष्ठक में दिए गए शब्दों में से उचित शब्द चुनकर रिक्त स्थान भरिए:
(गंग, त्याग, पुराण, वैभव, कीर्ति, साबुन, चंदन, शांति)

  1. कर्नाटक को ……………… का आगार कहते है।
  2. गोमटेश्वर की प्रतिमा दुनिया को त्याग और …….. का संदेश दे रही है।
  3. मैसूर का राजमहल कर्नाटक के …………… का प्रतिक है।
  4. कर्नाटक के अनेक साहित्यकारों ने सारे संसार में कर्नाटक की ……………. फैलायी है।

उत्तर:

  1. चंदन
  2. शांति
  3. वैभव
  4. कीर्ति

V. कन्नड या अंग्रेजी में अनुवाद कीजिए :

प्रश्न 1.
कर्नाटक में कन्नड भाषा बोली जाती है और इसकी राजधानी बेंगलूर है।
उत्तर:
ತಗ-ಕರ್ನಾಟಕದಲ್ಲಿ ಕನ್ನಡ ಭಾಷೆ ಮಾತನಾಡಲ್ಪಡುತ್ತದೆ
ಮತ್ತು ಬೆಂಗಳೂರು ಇದರ ರಾಜಧಾನಿಯಾಗಿದೆ.
In Karnataka they speak in Kannada and Bangalore is the capital of Karnataka.

प्रश्न 2.
कर्नाटक में चंदन के पेड विपूल मात्रा में हैं।
उत्तर:
ಕರ್ನಾಟಕದಲ್ಲಿ ಗಂಧದ ಗಿಡಗಳು ವಿಪುಲ ಸಂಖ್ಯೆಯಲ್ಲಿವೆ.
There are plenty of Sandalwood trees in Karnataka.

प्रश्न 3.
जगनमोहन राजमहल का पुरातत्व वस्तु संग्रहालय अत्यंत आकर्षणीय है।
उत्तर:
ಜಗನ್ನೊಹನ ರಾಜಮಹಲ ಪ್ರಾಚೀನ ವಸ್ತು ಈ ಸಂಗ್ರಹಾಲಯವು ಅತ್ಯಂತ ಆಕರ್ಷಣೀಯವಾಗಿದೆ.
ಸಂಗ್ರಹಾಲಯವು ಅತ್ಯಂತ ಆಕರ್ಷಣೀಯವಾಗಿದೆ.
Jaganmohan palace is a most ancient beautiful Museum.

प्रश्न 4.
वचनकार बसवण्णा क्रांतिकारी समाज सुधारक थे।
उत्तर:
ವಚನಕಾರ ಬಸವಣ್ಣನವರು ಕ್ರಾಂತಿಕಾರಿ ಸಮಾಜ
ಸುಧಾರಕರಾಗಿದ್ದರು.
Basavanna was a famous revolutioner.

VI. नमूने के अनुसार इन शब्दों के पर्यायवाची शब्द लिखिए :
उदा : पर्वत अद्रि पहाड गिरि

  1. सागर – जलधि – समुद्र – उदधि
  2. आगार – मकान – घर – गृह
  3. जल – तोय – पानी – नीर
  4. आकाश – अंबर –  गगन – नभ

VII. विलोम शब्द लिखिए:

  1. सुंदर – कुरूप
  2. विदेश – स्वदेश
  3. आदि – अनादि
  4. सजीव – निर्जिव
  5. सदाचार – दुराचार
  6. आयात – निर्यात

VIII. उदाहरण के अनुसार बहुवचन रूप बनाना सीखिए :
उदा : संधि – संधियाँ

  1. मूर्ति – मूर्तियाँ
  2. उपलब्धि – उपलब्धियाँ
  3. कृति कृतियाँ
  4. नीति – नीतियाँ
  5. संस्कृति संस्कृतियाँ
  6. पद्धति – पद्धतियाँ

IX. विच्छेद कर संधि का नाम लिखिए:

  1. दिग्गज – दिक् + गज – व्यंजन संधि
  2. पर्वतावली – पर्वत + आवली – दीर्घ संधि
  3. संग्रहालय – संग्रह + आलय – दीर्घ संधि
  4. जलाशय – जल + आशय – दीर्घ संधि
  5. जगनमोहन – जगत् + मोहन – व्यंजन संधि
  6. सदाचार – सत् + आचार – व्यंजन संधि
  7. अत्यंत – अति । अंत – यण संधि

X. विग्रह कीजिए और समास का नाम लिखिए :

  1. देश-विदेश – देश और विदेश – द्वंद्व समास
  2. जलप्रपात – जल का प्रपात – तत्पुरुष समास
  3. राजवंश – राजा का वंश – तत्पुरुष समास
  4. राजमहल – राजा का महल – तत्पुरुष समास

XI. सही विकल्प को रेखांकित कीजिए:

प्रश्न 1.
तुंगभद्रा नदी इन राज्यों में बहती है –
अ) कर्नाटक-तमिलनाडु
आ) कर्नाटक-महाराष्ट
इ) कर्नाटक-आंध्र प्रदेश
ई) कर्नाटक-केरल
उत्तर:
इ) कर्नाटक-आंध्र प्रदेश

प्रश्न 2.
श्रवणबेलगोला की गोमटेश्वर मूर्ति का निर्माण इन्होंने कराया था।
अ) दीवान पूर्णय्या
आ) मिर्जा इस्माइल
इ) श्री वीरेंद्र हेग्गडे
ई) चामुंडराया
उत्तर:
चावंडराया

प्रश्न 3.
ज्ञानपीठ से पुरस्कृत प्रथम कन्नड साहित्यकार ये हैं –
अ) चंद्रशेखर कंबार
आ) कुवेंपु
इ) यू.आर. अनंतमूर्ति
ई) गिरीश कार्नाड
उत्तर:
कुवेंपु.

प्रश्न 4.
कन्नड भाषा के प्रथम राष्ट-कवि.. की उपाधि से अलंकृत साहित्यकार ये हैं –
अ) गोविंद पै
आ) कुवेंपु
इ) जी.एस. शिवरुद्रप्पा
ई) ती.नं.श्री
उत्तर:
गोविंद पै

XII. अर्थ समझिए और वाक्य में प्रयोग कीजिए :

प्रश्न 1.
तक – थक
उत्तर:
अर्थ – तक – अंतर
वाक्य – रोहन पिता के साथ बाजार तक चला गया।
थक – थकान
वाक्य – बूढ़े आदमी को थकान महसूस हुई।

प्रश्न 2.
चोर – छोर
उत्तर:
अर्थ – चोर – चोरी करनेवाला
वाक्य – राजा ने चोर को सजा सुनाई।
छोर – किनारा
वाक्य – हिरन नदी के उस छोर चल गया।

प्रश्न 3.
बात – भात
उत्तर:
अर्थ – बात – बोली
वाक्य – मेरी सहेली मुझसे बात नहीं करेगी।
भात – पकाहुआ चावल
वाक्य – छोइ को भात बहुत पसंद है।

प्रश्न 4.
काल – खाले
उत्तर:
अर्थ – कोल – समयं
वाक्य – कोल सबसे बलवान है।
खाल – चमड़ी
वाक्य – मगरमच्छ की खाल बहुत सख्त होती है।

XIII. अनुरूपता :

  1. दक्षिण से उत्तर के छोर की पर्वतमाला : पश्चिमी घाट :: दक्षिण की पर्वतावलियाँ : ………….
  2. कर्नाटक : चंदन का आगार :: बेंगलूरु : ……….
  3. सी.वी.रामन : नोबेल पुरस्कृत :: सर.एम. विश्वेश्वरय्या : ………..
  4. भद्रावती : लोहे और इस्पात :: मैसूर : ……….
  5. कावेरी : नदी :: जोग : ………………
  6. बेलूरु : शिल्पकला :: गोलगुंबज : …………………..
  7. सेंट फिलोमिना : चर्च :: जगनमोहन राजमहल: ………………..
  8. कृष्णदेवराय : शासक :: राष्ट-कूट : …………………
  9. बसवण्णा : वचनकार :: कनकदास : ……………
  10. पंपा : प्राचीन कवि :: कंबार : ……………..

उत्तर:

  1. नीलगिरी
  2. सिलिकॉन सिटी
  3. भारतरत्न
  4. चंदन तथा कागज
  5. जलपात
  6. वास्तुकला
  7. पुरातनवस्तु, संग्रहालय
  8. राजवंश
  9. कीर्तनकार
  10. आधुनिक कवि

पाठ से आगे –
I. दिए-गए सही कारक चिह्न रिक्त स्थान में भरिए और इस अनुच्छेद के लिए उचित शीर्षक दीजिए :
(ने, को, से, का, की, के, के लिए, में, पर)।

1. कित्तूर से नौ मील दूरी पर स्थित संगोली नामक एक छोटा-सा गाँव है। इसी गाँव के एक गडरिये परिवार में रायण्णा का जन्म 15 अगस्त सन् 1793 ई. को | हुआ था। इनके पिताजी का नाम भरमण्णा था। रायण्णा के माता का नाम चंचोबा था। रायण्णा ने अपने भाई सिद्दण्णा के संग कसरत के साथ-साथ शस्त्राभ्यास भी किया। परिश्रम के फलस्वरूप कित्तूर रानी चेन्नम्मा के राज्य में रायण्णा मुख्य सेनापति के पद पर आरूढ हुए। उन्होंने अंग्रेजों को देश से भगाकर भारतमाता को स्क्तंत्रता दिलाना ही अपना परम कर्तव्य माना था।

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Solutions वल्लरी Chapter 15 कर्नाटक संपदा 1
बाएँ से दाएँ –
1. रायचूर जिले से विभक्त होकर उदित नया जिला – नाम पलट गया है। (3)
4. सोने का खान यहाँ है। (3)
5. प्रसिद्ध नाटक-अभिनेता वीरण्णा इस गाँव के थे। (2)
6. इसे कर्नाटक की सांस्कृतिक राजधानी कहा जाता है। (3)
7. बीदर जिला के समीप का जिला केंद्र। (3)
8. तुमकूरु जिले के सिद्धगंगा के साथ इस गाँव का नाम चुडा रहता है। (4)
10. यह केलदी संस्थान की राजधानी है। (3)
11. प्रसिद्ध मारिकांबा-मंदिर इस स्थान में है। (3)
13. प्रख्यात तेज गेंदबाज श्रीनाथ इस गाँव के हैं – नाम पलट गया है। (4)
14. कर्नाटक की राजधानी। (4)
15. टीपू सुल्तान का जन्मस्थान। (4)
16. रानी चेन्नम्मा का गाँव। (3)
18. कर्नाटक में अत्यधिक वर्षा होने का स्थान। यहाँ से सूर्यास्त का दृश्य मनमोहक लगता है – नाम पलट गया है। (3)
19. राजा, रानी, रोरर, रॉकेट को इस जलप्रपात में देख सकते हैं। (2)
21. गुफांतर शिल्पकला का अद्भुत उदाहरण इस गाँव में देखा जा सकता है – नाम पलट गया है। (3)
22. हेमावती नदी पर यहाँ बाँध बनाया गया है। (3)

ऊपर से नीचे –
2. मूकांबिका मंदिर यहाँ है। (3)
3. मडिकेरी के पास का विख्यात जलप्रपात। (2)
4. कोडवा भाषा इस जिले में बोली जाती है। (3)
8. शिवप्पनायक की राजधानी, अब एक जिला केंद्र स्थान भी है। (4)
9. प्रख्यात जोग जलप्रपात इस गाँव में है। (4)
10. साडियों को बुननेवाला यह गाँव बागलकोट जिले में
12. शरावती नदी को लाँच दवारा पार कर इस गाँव की चौडेश्वरी देवी के दर्शन करना है। (4)
17. हासन जिले के इस गाँव में बडे सुरंग द्वारा नदी का पानी बहाया गया है – गाँव का नाम पलट गया है। (3)
18. हलेबीडु के साथ जुडा हुआ यह गाँव शिल्पकला | का जीता-जागता उदाहरण है। (3)
20. अणु ऊर्जा उत्पादन केंद्र यहाँ स्थापित है – नाम पलट गया है। (2)
उत्तर:
बाएँ से दाएँ
1. कोप्पला
4. कोलार
5. गुब्बि
6. मैसूर
7. गुल्बर्गा
8. शिवगंगे
10. इक्वेरि
11. सिरसि
13. जावगल
14. बेंगलूर
15. देवदुर्ग
16. कित्तूर
18. आगुंबे
19. जोग
21. बादामी
22. गोरु

ऊपर से नीचे
2. कोल्लूरु
3. अब्बि
4. कोडगु
8. शिवमोग्गा
9. गेरुसोप्पा
10. इलकल
12. सिंगदूरु
17. बागूरु
18. बेलूरु
20. कैगा

कर्नाटक संपदा Summary in Hindi

कर्नाटक संपदा पाठ का सारांश :
कर्नाटक भारत का एक प्रगतिशील राज्य है। इसकी जनसंख्या करीब छः करोड़ है। कर्नाटक की प्राकृतिक सुषमा नयन मनोहर है। पश्चिम में अरब सागर है तो दक्षिण से उत्तर तक लंबी पर्वतमालाएँ हैं। कर्नाटक की प्रान्तीय भाषा कन्नड़ है और इसकी राजधानी बेंगलूरु है। बेंगलूरु शिक्षा, उद्योग तथा विज्ञान के केन्द्र माना जाता है। इसे ‘सिलिकॉन-सिटी’ भी कहते हैं।

सर सी.वी. रामन, सर एम. विश्वेश्वरय्या, डॉ.सी.एन.आर. राव, डॉ. शकुंतला देवी जैसे दिग्गजों ने वैज्ञानिक तथा प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में नारायण मूर्ति ने कर्नाटक का नाम रोशन किया है। सन् 2013 में डॉ. सी.एन.आर. राव को ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया गया है।

कर्नाटक संपदा Summary in Hindi 1

कर्नाटक में सोना, ताँबा, लोहा आदि कई प्रकार की उपयोगी धातुएँ मिलती हैं। भद्रावती में कागज, लोहे और इस्पात के कारखाने हैं। चीनी, सिमेंट, रेशम के भी कारखाने हैं। कर्नाटक को ‘चंदन का आगार’ भी कहते हैं। कर्नाटक की कावेरी, कृष्णा, तुंगभद्रा आदि नदियाँ हजारों एकड़ जमीन को उपजाऊ बनाती हैं। जोग, अब्बी, गोकाक, शिवनसमुद्र आदि जलप्रपात मनमोहक हैं।

कर्नाटक के बादामी, ऐहोले, पट्टदकल्लु शिल्पकला तथा वास्तुकला के अद्भुत नमूने हैं। बेलूरू, हलेबीडु, सोमनाथपुर मंदिरों की मूर्तियाँ सजीव बन पड़ी हैं। 57 फुट ऊँची श्रवणबेलगोला की गोमटेश्वर मूर्ति अत्याकर्षक है। विश्वप्रसिद्ध विजयपुरा का गोलगुम्बज इसी कर्नाटक में है। सेंट फिलोमिना चर्च, जगनमोहन राजमहल (आर्ट गैलरी) का पुरातत्व वस्तु संग्रहालय अति आकर्षक हैं।

कर्नाटक संपदा Summary in Hindi 2

कर्नाटक में कई राजवंशों ने शासन किया है। उनमें गंग, कदंब, राष्ट्रकूट, चालुक्य, होयसल, ओडेयर आदि प्रमुख हैं। कृष्णदेवराय, मदकरिनायक, अब्बक्का देवी, कित्तूर चेन्नम्मा, पुलिकेशी द्वितीय आदि राजाओं ने कर्नाटक की अभिवृद्धि में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

बसवण्णा, अक्कमहादेवी, अल्लमप्रभु, सर्वज्ञ जैसे संतों ने अपने अनमोल वचनों से मार्गदर्शन किया है, तो पुरंदरदास, कनकदास आदि भक्त कवियों ने नीति और भक्ति की सरिता का प्रवाह किया है। इतना ही नहीं, पंपा, रन्ना, पोन्ना, कुमारव्यास, हरिहर, राघवांक जैसे कवियों ने कन्नड़ साहित्य को समृद्ध किया है।

कर्नाटक संपदा Summary in Hindi 3

वर्तमान में कुवेंपु, बेंद्रे, कारंत, अय्यंगार, गोकाक, अनन्तमूर्ति, कार्नाड तथा कंबार दिग्गज साहित्यकारों को ज्ञानपीठ पुरस्कार प्राप्त हुआ है। यह हमारे कर्नाटक राज्य के लिए गौरव का विषय है।

कर्नाटक संपदा Summary in English

The Wealth Of Karnataka Summary in English:

Karnataka is a developing state of India. It has a population about six crores. Natural resources of Karnataka are varied. The Arabian Ocean and the Western Ghats are parts of this state. The mother tongue of Karnataka is Kannada. Its capital city is Bangalore.

Bangalore has got maximum facilities for Educational development. It is famous for different kinds of business. It has Indian Science Institute. HAL, HMT, ITI, BHEL and BEL. organizations. Bangalore is also called Silicon City.

The great people like Sir C.V.Raman, Sir M.Vishveshwaraih, Dr.C.N.R. Rao and Dr. Shakuntaladevi and Narayana Murthy are all from Karnataka. They have brought Karnataka on the world map. During 2013. Dr. C.N.R. Rao was honoured with Bharata Ratna Award.

Different kinds of ores like Gold, Silver and Steel are also available in Karnataka. There is a big industry of paper manufacturing in Bhadravati. In addition to this, there are sugar industries, cement manufacturing plants & silk industries in Karnataka. Sandal Wook is grown here in plenty.

In Karnataka Krishna, Kaveri and Tungabhadra Rivers are flowing. These waters help in generatings electricity and lands are fertile. In Jog, Gokak and Shivana Samudra famous water-falls are located.

Karnataka is famous for Art and Architecture. We find beautiful temples of Art and Architecture in Badami. Ihole and Pattadakallu. In the same way, we find beautiful artistic temples in Belur. Halebeedu and Somanathpura. The stateues in the temples tell us stories of Ramayana & Mahabharath.

There is an excellent statue of Gommateshwar having 57 feet hight in Shrevanabelgola. This statue gives the message of peace and sacrifice. Bijapur is famous for whispering gallery of Golgumbaz. Mysore is famous for kings palace. And Saint Philomena Church and also Jaganmohan Palace are also worth seeing.

in Karnataka many dynasties like Gang, Kadamba, Rashtrakuta, Challukya, Hoysala and Wadeyar ruled over Karnataka and Karnataka saw the great people like Krishna Deva Raya, Madakari Nayak. Queen Abbakkadevi, Queen Kittur Chennamma and Tippu Sultan who were all best administrators.

The great literary people like Basavanna, Akkamahadevi. Allama Prabhu and Sarvadnya and also Pumpa, Ranna, Ponna, Kumarvyasa, Harihar, Raghavanka, Purandara Dasa & Kanaka Dasa wrote deveotional songs and made Karnataka famous in the literary field.

In the modern age, the poets like Kuvempu, Bendre, Shivaram Karanta, Masti Venkatesh Ayyengar, V.K. Gokak, U.R. Anantamurthy, Girish Karnad and Chandrashekhar Kambar have enriched Karnataka with Gnana Peetha Awards.

कर्नाटक संपदा Summary in Kannada

कर्नाटक संपदा Summary in Kannada 1
कर्नाटक संपदा Summary in Kannada 2
कर्नाटक संपदा Summary in Kannada 3
कर्नाटक संपदा Summary in Kannada 4
कर्नाटक संपदा Summary in Kannada 5

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Solutions

Leave a Comment