Karnataka SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers

Students can Download Karnataka SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers, Karnataka SSLC Hindi Model Question Papers with Answers helps you to revise the complete Karnataka State Board Syllabus and score more marks in your examinations.

Karnataka State Syllabus SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers

Time: 2.30 Hours
Max Marks: 80

I. निम्नलिखित प्रश्नों के लिए चार – चार ( विकल्प सुझाए गए है, उनमें से सर्वाधिक उचित विकल्प चुनकर लिखिए (8 × 1 = 8)

प्रश्नः 1.
इनमें प्रथम प्रेरणर्थक क्रिया रूप है।
A. लिखावट
B. चढाई
C. सुनाना
D. बचना
उत्तरः
D. बचना

प्रश्नः 2.
टस से मस ना होना मुहावरे का अर्थ है।
A. बहुत खुश होना
B. हानि पहुचाना
C.शोर न मचाना
D. विचलित न होना
उत्तरः
D. विचलित न होना

प्रश्नः 3.
‘चढना’ शब्द का विलोम शब्द है।
A. उतरना
B. पड़ना
C. गिरना
D. सोना
उत्तरः
A. उतरना

Karnataka SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers

प्रश्नः 4.
‘नयन’ शब्द का संधि है।
A. आयदि
B. यण
C.विसर्ग
D. गुण
उत्तरः
A. आयदि

प्रश्नः 5.
लता सुंदर गाती है इस वाक्य का विराम चिन्ह है।
A. विस्मयादि बोधक चिन्ह
B. अर्ध विराम चिन्ह
C. पूर्ण विराम चिन्ह
D. प्रश्न वाचक चिन्ह
उत्तरः
C. पूर्ण विराम चिन्ह

प्रश्नः 6.
इसमे बहुवचन’ शब्द है?
A. जानकारी
B. जगह
C. कमरा
D. पैसे
उत्तरः
D. पैसे

प्रश्नः 7.
इसमें पुल्लिंग शब्द है।
A. मोरनी
B. गाय
C. हाथी
D. भैंस
उत्तरः
C. हाथी

प्रश्नः 8.
भारत – नारी का स्थान पूजनिय है।
A. से
B. में
C. मैं
D. ने
उत्तरः
B. में

II. निम्नलिखित प्रथम दो शब्दों के सूचित संबंधों के अनुरूप तीसरे शब्द का संबंधित शब्द लिखिए। (4 × 1 = 4)

प्रश्नः 9.
विडियो कान्फरेन्स : विचार – विनिमय :: ई-प्रशासन : ______________
उत्तरः
ई-गवर्नेस

प्रश्नः 10.
पं. राजकिशोर : मलिक :: अमरसिंहः ____________
उत्तरः
नौकर

प्रश्नः 11.
कालानाग : पर्वत :: गंगोत्री : _____________
उत्तरः
शिखर

प्रश्नः 12.
मेरा बचपन : आत्माकथा :: बसंत की स्च्चाई: उत्तर : _____________
उत्तरः
एकांकी

Karnataka SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers

III. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक – एक वाक्यों में लिखिए। (4 × 1 = 4)

प्रश्नः 13.
इंटरनेट क्रांति का असर किस पर पड़ा है?
उत्तरः
इंटरनेट क्रांति क असर बड़े – भूढों से लेकर छोटे बच्चों तक सब पर असर पड़ा है।

प्रश्नः 14.
ब्रीफकेस में क्या था?
उत्तरः
ब्रीफकेस में कुछ कागजात थे।

प्रश्नः 15.
कलाम और जलल्लूहीन किस विषय पर बात करते थे?\
उत्तरः
कलाम और जलल्लूद्दीन आधत्मिक विषयों पर बाते करते थे।

प्रश्नः 16.
परसाई जी को सम्मेलन में क्यों बुलाया | गया था?
उत्तरः
सम्मेलन का उदघाटन करने का परसाई जी का बुलया गया था।

IV. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दो या तीन वाक्यों 2 में लिखिए। (8 × 2 = 16)

प्रश्नः 17.
ई-गवर्नेस क्या है?
उत्तरः
ई-गवर्नेस द्वारा सरकार के सभी कामकाज का विवरण, अभिलेख, सरकारी आदेश आदि को यथावत् लेने को सूचित किया जाता है। इस से प्रशासन पारदर्शी बन सकता है।

प्रश्नः 18.
फूल मालाएं मिलने पर लेखक क्या सोचने लगे?
उत्तरः
लेखक के स्टेशन पर खूब स्वागत हुवा। लगभग दस बड़ी फूल – मालाएं पहनायी गयी सोचा, आस – पास कोई माली हो ता तो फूलमालएँ भी बेच लेता।

प्रश्नः 19.
बिछेद्री ने पर्वतारोहण के लिए किन – किन -चीजों का उपयोग किया?
उत्तरः
बिछेद्री ने पर्वतारोहण के लिए नायालय को रस्सी और चार लीटर ऑक्सीजन आदि चीजों का उपयोग किया।

प्रश्नः 20.
बाल कृष्ण अपनी माता से क्या – क्या शिकायते करते है?
उत्तरः
बाल कृष्ण अपने माता से बलराम के प्रति बलराम अपने को खिजाता है, तू काला है, तझे यशोदा ने जन्म नही दिया बल्कि खरीद लिया देखों तो तुम काले हो वे दोनो गोरे है, तुम काले हो इस तरह सबको सिखत है। सब मुझे देखकर –चुटकी बजाकर हंसते है। बलराम सबको इस तरह करने के लिए सिखाता है।

Karnataka SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers

प्रश्नः 21.
जैनुलाबदीन नमाज के बारे में क्या कहते थे?
उत्तरः
जैनुलाब्दीन नमाज के बारे अब्दुल कलाम जी से यह कहते थे की – जब तुम नमाज पढते हो तो तुम अपने शरिर से इतन ब्रहमंड का एक हिस्सा बन जाते हो जिस्से जिस्मे दौलत, आय, जाति य धर्म पंथ का कोई भेद भाव नहीं होता।

प्रश्नः 22.
प्रेमचंद जी ने खरीदारों को क्या संदेश देता है।
उत्तरः
प्रेमचंद जी ने खारीदारों को यह संदेश देता है – कि अगर खरीदारी करते समय सावधानी बरतने तो धोखा खने की संभावना होती है।

प्रश्नः 23.
भारत माँ के प्रति सौंदर्य का वर्णन किजिए?
उत्तरः
भारत मां की प्रकृति हरे भरे खेतों से और फल फूलों से भरे वन – उपवन से युक्त हरियाली से सुशोभित हैं। इतना ही नहीं, व्यापक खनिजों से भरा धन राशी से भी भारत माँ सुशोभित हैं। भारत माता एक हाथ में न्याय पताका तथा दूसरे हाथ में ज्ञान – दीप को धारण कर बहुत ही सुन्दर सुशोभित हो रही हैं। भारत माँ प्रकृति माँ बन कर सुशोभित हैं।

अथवा

शनि एक ठंड ग्रह है कैसे?
उत्तरः
शनि के वायुमंडल का तापमान शून्य के नीचे 150 सेंटीग्रेड के आसपास रहता है। इसलिए शनि एक अत्यन्त ठंडा ग्रह है।

प्रश्नः 24.
‘सत्य’ क्या होत है? उसका रूप कैसे होता
उत्तरः
सत्य भोला – भाला, अपनी आँखो से जो देखा, बिना नमक मिर्च लगाये बोल दिया। वहीं सत्य दृष्टि का प्रतिबिंद, ज्ञान की प्रतिबिंब, आत्मा की वाणी ही इसका रूप हैं।

अथवा

अन्वर ने मीना मैडम से क्या कहा?
उत्तरः
अन्वर ने मीना मैडम से कहा है कि – समस्त देशवासियों के प्रति भाई-चारे का भाव रखना और जाति, धर्म, भाषा, प्रदेश, वर्ग पर आधारित सभी भेद – भावों से दूवा रहना चाहिए।

V. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर तीन या चार वाक्यों में लिखिए। (9 × 3 = 27)

प्रश्नः 25.
गांव को सफाई के लिए बालक क्या काम करते है?
उत्तरः
अपना स्कूल के परिसर को स्वच्छ रखना । गंदगी को दूर करना, गाँव में कई गड्ढे हैं, उनको मिट्टी से ढौंपना। गाँव का कूडा डालने के लिए निष्चित जगह ‘बनाना। गाँव को हरा-भरा रखना। चारों तरह पेड पौधे लगाना। घरों में भी फलदार पेड लगाना।

प्रश्नः 26.
बिछेद्री पाल के परिवार का परिचय दिजिए?
उत्तरः
बिछेदी का जन्म एक साधारण भारतीय परिवार में हुआ था। पिता किशनपाल सिंह और मा हंसादेई नेगी की पाच संतानों में बिछेद्री तीसरी संतान है।

प्रश्नः 27.
विज्ञान कथा का सार लिखिए?
उत्तरः
एक घर में नौकर को, जो किसी जानलेवा बीमारि से पीडित था। निकालकर उसकी जगह पर एक रोबोट को रख दिया जाता है। किसी तरह रोबोट को इस बाम की जानकारी मिल जाती तो वह रोबोटिक संघ से संपर्क सांधकर संघ को सारी बातों से अवगत करना है। संघ रोबोटों की हडताल की घोषणा कर देता है। अंतत समझौता इस बात पर होता है कि उस नौकर को घर में फिर से रख लिया जाएगा

Karnataka SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers

प्रश्नः 28.
समय के बारे में कवि अंतिम पंक्तियों का सार क्या है?
उत्तरः
समय के बारे में कवि अंतिम पंक्तियों में कहना चाहते है कि – हम जो कामकरन है उसे मन लगाकर, आत्म विश्वास के साथ, संशय को भगाकर काम करना चाहिए, हम उस समय को हीसुसमय समझान चाहिए। अगर उस समय का सदुपयोग नही करेंगे तो हमे बहुत पछतान पडेगा।

प्रश्नः 29.
गिल्लू के अंतिम दिनों का वर्णन किजिए?
उत्तरः
जब गिल्लू की जीवन यात्रा का अंत आही गया तब दिन भार उसने कुच खाया और ना बाहर गया। पंजे ठंडे रहे थे। लेखिका ने रात भर जगाकर हीटर जालाय और उष्णता देने का प्रयन किया। किन्तु प्राभात की प्रथम किरण के साथ ही उसका अंत हो गया।

प्रश्नः 30.
व्यापार और वैकिंग में इंटरनेट से क्या मदद मिलती है?
उत्तरः
व्यापार और बैकिंग में के द्वारा घर बैठे – बैट खरीदारी कर सकते है। कोई भी बिल भर सकते है। इंटरनेट बैंकिंग द्वारा दुनिया की किसी भी जगह पर चाहे जितने भी रकम भेजी जा सकती है।

प्रश्नः 31.
कर्नाटक के प्रकृतिक सौंदर्य का वर्णन किजिए?
उत्तरः
मंत्री – तुम क्या करते हो? तुम्हारी ….. यहाँ है? तुम्हारे रहते चोरियां हो रही है। यह ईमान्दार सम्मेलन है। बाहर यह चोरी की बात फैल गयी तो कितनी बदनामी होगी? कार्याकर्त – हम क्या करे? अगर सम्माननीय डेलिगेट यहाँ- वहाँ जाए, तो क्या हम उन्हें शोक सकते है ? मंत्री – [गुस्से से] में पुलिस को बुलाकर यहाँ सबकी तलाशी करवाता हूँ।

प्रश्नः 32.
दोहे का भावार्थ आपने शब्दों में लिखिए राम नाम मानि दीप धरू, जीह देहरी द्वार तुलसी भीतर बाहिरो, जो चाहसी उजिचार भावार्थ :
उत्तरः
प्रस्तुत दोहे के द्वारा तुलसीदास जी कहते है कि इस तरह देहरी पर दिया रखने से घर के भीतर तथा आगन में प्रकार फैलता है, उसी तरह राम – नाम जपने से मानव की आंतरिक और बाह्य शुद्धि होती है।

Karnataka SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers

प्रश्नः 33.
गध्यांश का आनुवाद कन्नड या अंग्रेजी में कीजिए :-
उत्तरः
शनि हमारे सौर मंडल क एक अदभुर और सुंदर ग्रह है। किसी भी ग्रह को शुभ या अशुभ समझने का कोई भौतिक कारण नही है, शनि तो हमारे सौरमंडल का सबसे खूबसूरत ग्रह है।
ಶನಿ ಗ್ರಹ ನಮ್ಮ ಸೂರ್ಯ ಮಂಡಲ ಒಂದು ಅತ್ಯಂತ ಸುಂದರ ಗಜ, ಯಾವುದೇ ಗ್ರಹಕ್ಕೂ ಶುಭ ಹಾಗೂ ಅಶುಭ ಎನ್ನುವ ಯಾವುದೇ ಭೌತಿಕ ಶಾರಣಗಳು ಇಲ್ಲ. ಶನಿ ಸೌರ ಮಂಡಲದ ಸುಂದರ ಗ್ರಹವಾಗಿದೆ.
The Planet Saturn is one of the most beautiful planets in our solar system. No planet can be said to have good or bad influences on our lifes. Saturn is certainly beautiful plant in our solar system.

VI. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर पाँच – छः वाक्यों में लिखिए (2 × 4 = 8)

प्रश्नः 34.
वीडियो कान्फरेन्स के बारे में लिखिए?
उत्तरः
एक जगह बैठकर दुनिया के कई देशों के प्रतिनिधियों के साथ 8-10 दूरदर्शन के परदें पर चर्चा कर सकते हैं। एक ही कमरे में बैठकर विभिन्न देशों में रहनेवाले लोगों के साथ विचार – विनिमय कर सकते हैं।

अथवा

कर्नाटक की शिल्पकला का परिचय दिजिए। कर्नाटक की शिल्पकला अनोखी है। बादामी, ऐहोले, पढ्दाकल्लु में जो मंदिर है, उनकी शिल्पकला और वास्तुकला अद्भुत है। बेलूरू, हलेबीडु, सोमनाथपुर के मंदिरों में पत्थर की सजिवमूर्तियाँ है। ये हमें रामायण और महाभारत की कहानियाँ सुनाती है। गोमेटेश्वर की 57 फुट ऊची एकशिला प्रतिमा शांति और त्याग का संदेश दे रही है।

बिजापुर का गोल – गुंबज वास्तुकला का अद्भुत नमूना है। मैसूर का राजमहल कर्नाटक के वैभव का प्रतीक है। प्राचीन सेंट फिलोमिना चर्च, जगानमोहन राजमहल का पुरातत्व वस्तु संग्रहालय अत्यंत आकार्षणीय है।

प्रश्नः 35.
निम्नलिखित कवितांश पूर्ण कीजिए:
मुखिया मुख सो चाहिए
खान पान को एक
पलै पौसे सकल अंग
तु लसी सहित विवेक

Karnataka SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers

VII. निम्नलिखित गध्यांश ध्यानपूर्वक पढ़कर नीचे दिए गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए :(1 × 4 = 4)

लोभ बहुत बडा दुर्गुण है। यह एक असाद्य रोग है। दु:ख का मूल कारण ही लोभ है। धानि आदमी अधिक धन कमाने के प्रयत्न में लोभी इन | जाता है। प्राप्त धन से वह कभी भी संतुष्ट नहीं हो | पाता । भूख पेटभर खाना मिलने पर तृप्त हो जाता – है लोभी की दुराशएं बढ़ती जाती है। इसलिए वह | हमेश आतृप्त ही रहता है। लोभ बीमारी का लक्षण | है, संतोष निरोगता का लक्षण है इसलिए मनुष्य को लोभ छोडकर, जो प्राप्त है। उसी में संतुष्ट रहना चाहिए।

प्रश्न:
क) आदमी क्यों लोभी बनता है?
उत्तरः
अधिक धन कमाने के प्रयत्न में धनि आदमी लोभी बनता है।

ख) भूखा आदमी कैसे हो जाता है
उत्तरः
भूखा पेठ भर खाना मिलने पर तृप्त हो जाते

ग) लोभी हमेशा क्यों अतृप्त रहता है
उत्तरः
लोभी की दुराशाएँ बढाने के कारण हमेशा अतृप्त रहता है।

घ) मनुष्य कैसे संतुष्ट रह सकता है
उत्तरः
मनुष्य लोभ छोडकर जो प्राप्त है उसी में | संतुष्ट रहना चाहिए।

VIII. 37. दिया गया संकेत बिंदुओं के आधार पर 12-15 वाक्यों में किसी एक विषय के बारे में निबंध लिखिए। (1 × 4 = 4)

क) इंटरनेट का महत्व
इंटरनेट अनगिनत कंप्यूटरों के कई अंतर्जालों का एक दूसरे से संबंध स्थापित करने का जाल है। आज इनमान के लिए खान-पान जितना ज़रूरी है, इंटरनेट भी इतना ही आवश्यक हो गया है।

इंटरनेट द्वारा घर बैठे-बैठे खरीदारी कर सकते है। कोई भी बिल भर सकते हैं। इससे दुकान जाने और लाइन में घंटों तक खड़े रहने का समय बच सकता है। इंटरनेट बैंकिंग द्वारा दुनिया की किसी भी जगह पर जितनी भी रकन भेजी जा सकती है।

इंटरनेट की वजह से पैरसी, बैंकिंग फ्रा., हैकिंग (सूचना/खबरों की चोरी) आदि बढ़ रही हैं । मुक्त वेब साइट, चैटिंग आदि से युवा पीढ़ी ही नहीं बच्चे भी इंटरनेट की कबंध बाँहों के पाश में फंसे हुए हैं। इससे वक्त का दुरुपयोग होता है और बच्चे अनुपयुक्त और अनावश्यक जानकारी हासिल कर रहे हैं । इसलिए आप लोगों को इंटरनेट से सचेत रहना चाहिए।

वैज्ञानिक आविष्कारों ने मानव जीवन को सुविधाजनक बनाया है । इंटरनेट ने मानव की जीवनशैली और उसकी सोच से क्रांतिकारी परिवर्तन लाया है। आज इंटरनेट के बिना संचार व सूचना दोनों क्षेत्र कमजोर हो जाते हैं। इंटरनेट ने पूरी दुनिया को एक जगह ला खड़ा कर दिया है। जीवन के हर क्षेत्र में इंटरनेट का बहुत बड़ा योगदान है। इंटरनेट वरदान है तो अभिशाप भी है।

ख) स्वच्छ भारत अभियान

  • भूमिका
  • सफाई का महत्त्व
  • अभियान को सफल बनाने में आप्के सुझाव
  • उपसंहार।

भूमिका : हमारे चारों ओर के वातावरण को स्वच्छाकी रखना ही स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश ही है। इन्हे हमारे प्रधानमंत्री जी, गाँधी जयंती के दिन घोषण की।

सफाई का महत्त्व : सफाई करने से हमारा वातावरण स्वच्छ रहता इससे हमारा स्वस्थन अच्छा रहता है। मन आनंद से मरा रहता है। इसलिए हम हमेशा हमारेपरिसरको सच्छना के साथ रखना चाहिए।

अभियान को सफल बनाने में आपके सुझाव : हम अभियान को सफल बनाने में हम सभी एक साथ मिलकर अपना घर ही नही हमारे समाज को ही साफ रखना चाहिए।

उपसंहार : एक व्यक्ति अपना परिवार एक परिवार एक रास्ता, एकरस्ता के लोग अपना एरिया को स्वच्छा के रखने का निर्जय लेना है। सभी मिलकर स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाना है।

Karnataka SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers

ग) जनसंख्या की समस्या

  • जनसंख्या का अर्थ
  • जनसंख्या वृद्धि के कारण
  • जनसंख्या नियंत्रण
  • उपसंहार। जनसंख्या की समस्या

तात्पर्य : जनसंख्या की समस्या सामान्य रूप से विश्व की समस्या है। प्रति तीन सेकेंड में दो बच्चे जन्म लेते हैं। जनसंख्या वृद्धि के कारण : विज्ञान की उन्नति के साथ चिकित्सा एवं स्वास्थ्य की सुविधाओं में अन्ति हुई है। फलतः जन्म लेने वाले शिशुओं की मृत्यु दर में कमी हुई है तथा औसत आयु में वृद्धि हुई है, यानी आजकल एक भारतवासी पहले की अपेक्षा अधिक समय तक जीवित रहता है।

प्राचीन मान्यताओं के अनुसार बच्चे भगवान की देन है। अतएव परिवार नियोजन जैसे उपायों को सामान्यतः अच्छी नज़र से देखा जाता है। यह भी एक दृष्टिकोण हैं कि अधिक बच्चे होने से काम करने के लिए तथा परिवार की रक्षा करने के लिए अधिक हाथ उपलब्ध होते हैं ।

जनसंख्या वृद्धि को रोकने में सबसे अधिक बाधक तत्व हैं – अशिक्षा, | अन्धविश्वास तथा रूढ़िवादिता । इसके अतिरिक्त भारतीय लोग सन्तान को ईश्वरीय देन समझते हैं तथा सन्तान को भाग्य के साथ जोड देते हैं।

नियंत्रण : हम सबका यह कर्तव्य है कि इस समस्या के निराकरण में पूरा योगदान दे। हमारी सरकार तथा सामाजिक संस्थाओं को चाहिए कि सभओं, गोष्टियों, समाचार माध्यमों, संचर| माध्यमों एवं रेडियों दूरदर्शन द्वारा छोटे परिवार से होनेवाले फायदों का प्रचार-प्रसार करें । कहने का तात्पर्य यह है कि परिवार को सीमित रखने की मानसिकता का प्रचार हर स्तर पर किया जाए जिससे जनसंख्या-नियंत्रण को जीवन का एक अवश्यक अंग मान लिया जाये।

उपसंहार : हमारे देश के विकास में जनसंख्या की वद्धि एक बड़ी बाध है। यातायत, शिक्षा, रोजगार, आदि विविध क्षेत्रों में जनसंख्या की वृद्धि सिर दर्द बन गई है। देश का प्रत्येक नागरिक इस समस्या का हल करने में सहायक हो।

IX. 38. निम्नलिखित विषय के बारे में पत्र लिखिए। (1 × 5 = 5)

कोई कारण बताते हुए अपने प्रधानाध्यापक से तीन दिन की छुट्टी मांगते हुए एक पत्र लिखिए :
स्थल का नाम : बेंगलूरु
ता : …………………..

सेवा में,
प्रधान अद्यापकजी,
बेंगलूर प्रौढ़शाला
बसवनगुडि, बेंगलूरु -४
बेंगलूरु

मान्यवर,
विषय : तीन दिन की छुट्टी के लिए प्रार्थना पत्र ।

सविनय निवेदन है कि, कल रात से मुझे तेजी से बुखार आ रहा है। पाठशाला आना मुश्किल है। इसलिए आज से …………… से लेकर ………….. तक कुल मिलाकर तीन दिन की छुट्टी देने के लिए कृपा कीजिए । बुखार कम होते ही पाठशाला आ जाऊंगा।
धन्यवाद सहित,

आपका आज्ञाकारी विधार्थी (भवदीय)
नंदकुमार
दसवीं कक्षा ‘ए’ विभाग

Karnataka SSLC Hindi Model Question Paper 4 with Answers

अधवा

अपने किसी यात्रा वृत्तांत का वर्णन करने हुए पिता के नाम एक पत्र लिखिए।
उत्तरः
दिनांक : …….
बेंगलूरू

पूज्य पिताजी
सप्रेम नमस्ते।

– मैं कुशल हूँ। मैं समझती है कि आप लोग भी भावान की कुछ से सकुशल हो।

दादा जी हम अपनी पाठशाला की ओर से श्रीरंगपट्नम्, मैसूर, कृष्णराज सागर आदि इतिहास प्रसिद्ध प्रेक्षणिय स्थलों को देखने गए थे।

हम श्रीरंगपट्नम् में श्रीरंगनाथजी का मंदिर, जुम्मा मसिद दरिया दौलत भाग, संगम आदि देखकर पुलकित होगए। मैसूर में राजमहल, जू, चामुण्डिमाता का मंदिर देखकर, हम शाम के समय में कृष्णराजसागर देखते रात नौ बज तक कहाँ के रंगीन उध्यान को देखकर वापस लौटे।

मैं यहाँ अच्छा सा पढ़ाई कर रही है। परीक्षा के बाद घर आऊंगी। माता जी को मेरा प्रणम।
आपका आशीर्वाद के उत्तर की निरीक्षा में

आपकी प्यारी पुत्री
राधा

प्रेषक,
राधा
दसवी कक्षा, ‘ए विभाग
कमल नेहरु हाईस्कूल
कृण्णराजपुरम्, बेंगलूर

सेवा में
रामचन्द्रनाथा
# २५, मातनिलय
मारनहल्ली
कोलार जिल्ला

Leave a Comment

error: Content is protected !!